महापौर गीता अग्रवाल ने की जनसुनवाई संचालित मांस विक्रेताओ के लिए नये स्थल का होगा चयन

देवास। प्रति सप्ताह बुधवार को होने वाली जनसुनवाई के अन्तर्गत 9 अगस्त बुधवार को महापौर जनसुनवाई महापौर श्रीमती गीता दुर्गेश अग्रवाल के द्वारा विधायक एवं महापौर प्रतिनिधि दुर्गेश अग्रवाल, उपायुक्त वित्त पुनित शुक्ला, उपायुक्त देवबाला पिपलोनिया, विधायक प्रतिनिधि भरत चौधरी, के साथ की गई। महापौर द्वारा नागरिको की निगम संबंधि समस्याओ के 13 आवेदन प्राप्त कर संबंधित विभागो मे समय सीमा मे निराकरण किय जाने हेतु भेजा गया। महापौर द्वारा जनसुनवाई मे 15 लायसेंस व 2 मजदूर डायरी का वितरण व्यवसाईयो व हितग्राहियो को किया गया। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा की विभिन्न सामाजिक संगठनो व वरिष्ठ नागरिको द्वारा शहर मे धार्मिक स्थानो के आसकृपास स्थित मांस मटन व चिकन की दुकानो के अवैध संचालन को बंद किया जाकर शहर मे नियत स्थान का चयन कर शहर मे चल रहे अवैध रूप से मांस विक्रय को बंद किये जाने हेतु आवेदन प्राप्त हुआ इस पर स्वास्थ्य अधिकारी जितेन्द्र सिसोदिया को सर्वे कर कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये। महापौर ने बताया की इस संबध मे कलेक्टर द्वारा एक दल गठित किया गया है जो दल सर्वे कर नियमानुसार कार्यवाही करेगें साथ ही यह भी बताया की चिकन मटन विक्रेताओ के लिए शहर मे एक स्थान चयनित कर मांस विक्रेय स्थल व्यवस्था के लिए परिषद मे प्रस्ताव रखा जावेगा। प्रस्ताव पारीत पश्चात मांस विक्रय स्थल का निर्माण किया जावेगा।जिससे मांस विक्रेताओ का रोजगार भी प्रभावित नही होगा। इसी प्रकार एमजी रोड पर व्यवसायको द्वारा दुकानो के बाहर अस्थाई अक्रिमण कर दुकानो की सामग्री बाहर रखी जा रही है जिससे यातायात प्रभावित होने के साथ ही नागरिको को आवागमन मे बाधा उत्पन्न हो रही है इस हेतु निगम की टीम को अस्थाई अतिक्रमण हटाये जाने हेतु कहा गया है। इस अवसर पर पार्षद महेश फुलेरी, पार्षद प्रतिनिधि राज वर्मा, निलेश वर्मा, भाजपा नेता विपुल अग्रवाल, पूर्व पार्षद बजरंगलाल बैरवा, सहायक यंत्री जगदीश वर्मा, मुशाहीद हन्फी, कार्यालय अधिक्षक अशोक उपाध्याय, लेखा अधिकारी दिलीप गर्ग, राजस्व अधिकारी प्रवीण पाठक, स्वास्थ्य अधिकारी जितेन्द्र सिसोदिया, उद्यान प्रभारी दिनेश चौहान, उपयंत्री दिलीप मालवीया, स्थापना विभाग प्रभारी अशोक देशमुख, विकास शर्मा, स्वास्थ्य निरीक्षक हरेन्द्रसिह ठाकुर, आदि सहित व्यवसाईक व हितग्राही उपस्थित रहे।