1 जनवरी 2021 के पूर्व जारी भवन अनुज्ञा में अप्राधिकृत निर्माण की कम्पाउन्ड पर 30 प्रतिशत तक प्रशमन

देवास।शासन निर्देशानुसार 1.1.21 के पूर्व निकाय क्षेत्रों में दी गई भवन अनुज्ञा पर अप्राधिकृत निर्माण पर कम्पाउन्डिंग करने पर 30 प्रतिशत तक की सीमा का प्रशमन करावें। नगरीय निकायों में अप्राधिकृत निर्माण अर्थात निगम द्वारा भवन अनुज्ञा के अनुरूप एमओएस के विरुद्ध बनाये भवनों पर कम्पाउन्ड प्रक्रिया के तहत निगम में शासन निर्धारित प्रक्रिया अपनाते हुए पूर्व प्रचलित 10 प्रतिशत तक की सीमा को बढ़ा कर 30 प्रतिशत तक की सीमा तक प्रशमन किये जाने का प्रावधन किया गया है।
उल्लेखनीय है कि पूर्व में शासन ने जनहित में एमओएस के विरुद्ध बने भवनों पर 10 प्रतिशत तक की सीमा का प्रशमन निर्धारित किया गया था। जिसे बढ़ाकर 30 प्रतिशत तक की सीमा का प्रशमन किया जाना निर्धारित किया है। ज्ञात रहे यह प्रक्रिया दिनांक 1 जनवरी 2021 के पूर्व के भवन अनुज्ञा के तहत एमओएस के विरुद्ध अप्राधिकृत निर्माण पर ही कम्पाउन्ड कर 30 प्रतिशत तक की सीमा तक का प्रशमन किया जावेगा। उक्त प्रक्रिया की अंतिम दिनांक शासन निर्धारित 31 अगस्त 2024 तक ही होगी। उक्त अवधि के अन्दर एमओएस के विरुद्ध भवनों के अप्राधिकृत निर्माण का निगम में कम्पाउन्ड प्रक्रिया के तहत 30 प्रतिशत तक की सीमा का प्रशमन करावें। इस संबंध में निगम प्रभारी कार्यपालन यंत्री इन्दूप्रभा भारती द्वारा निगम उपयंत्रियों एवं निगम अधिकृत आर्किटेक्ट के साथ बैठक लेकर दिशानिर्देश जारी किये।