जल स्त्रोतों के संरक्षण एवं पुनर्जीवन कार्य का विशेष अभियान 5 से 16 जून तक जल संरक्षण एवं पुनर्जीवन के अभियान कार्य को लेकर आयुक्त ने किया दल गठित

देवास। जल संरक्षण एवं पुनर्जीवन को दृष्टिगत रखते हुए जल स्रोतों को अविरल बनाये जाने के उद्देश्य से जल स्रोतों जैसे कुओं, तालाबों व बावड़ियों के संरक्षण एवं पुनर्जीवन का कार्य आवश्यक है इसी उद्देश्य को लेकर शासन निर्देश के पालन मे आयुक्त रजनीश कसेरा ने निगम अधिकारियों एवं कर्मचारियों की टीम निर्धारित कर 5 जून से 16 जून तक देवास मे निगम सीमा क्षेत्र के अन्तर्गत स्थित तालाबों, कुंआ बावडीयों व अन्य जल स्त्रातों के संरक्षण एवं पुनर्जीवन के लिए विशेष सफाई अभियान करवाये जाने के निर्देश जारी किये गये है। जिसमे निगम सीमा क्षेत्र के अंदर स्थित कुए बावड़ी एवं तालाबों की सफाई की जाएगी जिसमे शहर मे स्थित सामाजिक संस्थाओं का सहयोग अपेक्षित कर वार्डो के जनप्रतिनिधियों के साथ बडे पैमाने पर रूफ वॉटर हार्वेस्ट्रिग को लागू किया जाकर भवन की छतों का पानी जमीन मे उतारने का कार्य भी किया जाना है साथ ही आयुक्त ने यह भी निर्देश दिये है कि जिन वार्डो मे पूर्व से रिहायशी रूफ वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम भवनो पर लगा हुआ है ओर वह बंद है उसे संस्था, भवन मालिक आदि से सम्पर्क कर उसका सफाई कार्य कर पुर्नजीवित करने का कार्य भी किया जावेगा। इस अभियान मे सभी सामाजिक संस्थाओं, वार्ड के जनप्रतिनिधियों के विशेष सहयोग से निगम की टीम द्वारा कार्य किया जावेगा। जिससे कुए, बावडी, तालाब व अन्य जल स्त्रोतों का सफाई कार्य होकर जल संरक्षण को बढावा मिलेगा। इस अभियान के तहत वार्डो मे स्थित धार्मिक स्थानों के आस पास एवं प्रमुख चौराहों की साफ सफाई किये जाने के भी निर्देश दिये। आयुक्त ने निगम के संबंधित अधिकारी को जल संरचनाओं के आसपास सुखा अथवा गीला कचरा रहवासियों द्वारा नही डाला जावे इस हेतु मानिटरिंग किये जाने के निर्देश दिये साथ ही रहवासियों से आयुक्त ने अपील भी कि है की वे गीला,सुखा कचरा जल संरचना के स्थानों व नाली एवं नालों मे नही डालें तथा इस अभियान मे सहभागी बनें। इसी के साथ आयुक्त ने वर्षाकाल को दृष्टिगत रखते हुए तालाब का पानी का ओव्हरफलो ना हो व जल जमाव की स्थिती उत्पन्न ना हो इस हेतु पानी निकासी की व्यवस्था किये जाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये। आगामी वर्षा ऋतु के तहत हवा, आंधी को दृष्टिगत रखते हुए शहर मे लगे समस्त होर्डिंग मालिको से अपील करते हुए संबंधित निगम राजस्व अधिकारही संजय चौधरी को होर्डिंग मालिको से सम्पर्क कर उनके होर्डिंगों को चेक कर तत्काल दुरूस्त करवाने हेतु निर्देशित किया जिससे कोई जनहानी नही हो। इसी अन्तर्गत 6 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के रूप मे जल सम्मेलन का आयोजन भी किया जावेगा। जल सम्मेलन की कार्ययोजना के लिए आयुक्त ने निगम सहायक यंत्री जगदीश वर्मा एवं सौरभ त्रिपाठी को निर्देशित किया।